https://aboutinhindi.com

Best Snowfall Tourist Places In India (भारत में सबसे अच्छे बर्फवारी वाले पर्यटक स्थल)

SOCIAL SHARE

हर कोई ठंडो के मौसम में बर्फवारी का मज़ा उठाना चाहता है। खासकर मैदानी इलाको में रहने वाले लोगो को बर्फवारी खासी पसंद होती है। इस ब्लॉग में हम भारत के कुछ सबसे अच्छे बर्फवारी वाले पर्यटक स्थलों (Best Snowfall Tourist Places In India) के बारे में बताएँगे जिन जगहों पर आप बर्फवारी का लुफ्त उठा सकते हैं।

भारत के हिमांचल प्रदेश, उत्तराखंड, और जम्मू कश्मीर, आदि जैसे राज्य बर्फवारी को लेकर बहुत अधिक चर्चा में आते हैं। इन्ही राज्यों में लोग ठंडो में घूमने और बर्फवारी का मज़ा लेने आते हैं। यहाँ होने वाली स्नो एक्टिविटीज (Snow Activities) भी लोगो को काफी पसंद आती है। यदि आप कुछ मज़ेदार जगहों के बारे में जानना चाहते हैं तो इस ब्लॉग को अंत तक जरूर पढ़े।

भारत में बर्फवारी के लिए उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश और जम्मू कश्मीर आदि जैसे राज्य बहुत अधिक प्रसिद्ध हैं। हम इन्ही कुछ राज्यों के शहरों के बारे में जानेंगे जहाँ आप बर्फवारी का मज़ा उठाने जा सकते हैं। आप ठंडो की छुट्टियों में इन जगहों का प्लान बना सकते हैं। तो आईये जानते हैं कुछ सबसे अच्छे बर्फवारी से सम्ब्नधित स्थानों (Best Snowfall Tourist Places in India) के बारे में…..

Mussoorie (मसूरी)

सबसे पहले हम जिस शहर की बात करने जा रहे हैं वो है मसूरी। मसूरी को “पहाड़ो की रानी” कहा जाता है और घूमने के लिए यह गर्मियों और सर्दियों दोनों में सबसे अच्छा स्थान है। सर्दियों में यहाँ तापमान बहुत नीचे गिर जाता है तब आप यहाँ बर्फवारी का आनंद उठा सकते हैं। मसूरी घूमने के साथ यहाँ होने वाली स्नो एक्टिविटीज (Snow Activities) के लिए भी बहुत अधिक प्रसिद्ध है।

Best Snowfall Tourist places in India

मसूरी उत्तराखंड का बहुत ही प्रसिद्ध शहर है। यहाँ आप सुन्दर पहाड़ और कुछ पुरानी वास्तुकला को भी देख सकते हैं। बर्फवारी के दौरान मसूरी किसी रानी की तरह ही दिखाई पड़ता है। तो ठंडो में बर्फवारी का आनंद लेने के लिए मसूरी एक बहुत ही सुन्दर जगह है।

How to Reach? (कैसे पहुंचे?)

मसूरी दिल्ली से 289 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यह उत्तराखंड की राजधानी देहरादून से 34 किलोमीटर की दूरी पर है। आप दिल्ली से सीधे बस पकड़ कर मसूरी तक पहुंच सकते हैं। यदि आप यहाँ फ्लाइट द्वारा आना चाहते हैं तो मसूरी से सबसे निकट एयरपोर्ट जॉली ग्रांट एयरपोर्ट देहरादून है और सबसे निकट रेलवे स्टेशन भी देहरादून रेलवे स्टेशन है।

Dhanaulti (धनौल्टी)

धनौल्टी भी उत्तराखंड की ही एक छोटी सी बस्ती है। यह अपने शांत वातावरण, कुछ अकाल्पनिक मनोरम दृश्य और अपनी खूबसूरती के लिए जाना जाता है। धनौल्टी 2286 मीटर की ऊंचाई पर होने के कारण ठंडो में यहाँ बहुत अच्छी बर्फवारी होती है। ठंडो में बर्फवारी का आनंद उठाने के लिए धनौल्टी एक बहुत ही अच्छी जगह है।

यह देवदार के पेड़ो से घिरे होने के कारण बर्फवारी के समय बहुत ही सुन्दर दिखाई पड़ता है। यहाँ हर साल काफी बर्फवारी होती है और सभी पहाड़ बर्फ की सफ़ेद चादर से ढक जाते हैं। तो बर्फवारी का आनंद लेने के लिए धनौल्टी भी एक आदर्श स्थान है।

How to Reach (कैसे पहुंचे?)

धनौल्टी उत्तराखंड राज्य में टिहरी गढ़वाल जिले में स्थित एक बस्ती है। यह देहरादून से 36 किलोमीटर की दूरी पर है। धनौल्टी के सबसे निकट एयरपोर्ट जॉली ग्रांट एयरपोर्ट है और सबसे निकट रेलवे स्टेशन देहरादून रेलवे स्टेशन है। आप देहरादून से प्राइवेट कैब बुक करके धनौल्टी आराम से पहुंच सकते हैं।

Dharamshala (धर्मशाला)

धर्मशाला हिमांचल प्रदेश की “सर्दियों की राजधानी” है। यह भी बर्फवारी के लिए बहुत अधिक प्रसिद्ध है। आप धर्मशाला में कुछ ऊँचे पहाड़ी स्थानों पर जाकर बर्फवारी का आनंद उठा सकते हैं। धर्मशाला शहर भी चारो तरफ से सुन्दर पहाड़ो से घिरा हुआ है। यहाँ आकर आप भागसूनाग मंदिर, करेरी झील, ज्वालादेवी मंदिर और डल झील जैसी जगहों पर घूमने जा सकते हैं।

यह सभी जगह बहुत ऊंचाई पर स्थित है तो ठंडो में इन सभी जगहों पर काफी बर्फवारी होती है। तो आप धर्मशाला शहर भी बर्फवारी का आनंद उठाने के लिए जा सकते हैं।

How to Reach? (कैसे पहुंचे?)

आप धर्मशाला शहर दिल्ली से सीधे बस पकड़कर पहुंच सकते हैं। दिल्ली से धर्मशाला की दूरी 484 किलोमीटर है। दिल्ली से प्राइवेट वॉल्वो बस द्वारा आप आसानी से धर्मशाला शहर पहुंच सकते हैं। धर्मशाला के सबसे निकट एयरपोर्ट गग्गल एयरपोर्ट है और सबसे निकट रेलवे स्टेशन पठानकोट है। पठानकोट से धर्मशाला की दूरी 85 किलोमीटर है जिसे आप प्राइवेट कैब, टैक्सी और बस द्वारा पूरा कर सकते हैं।

Kothi Village (कोठी गांव)

यदि आप मनाली घूमने आये हैं और किसी शांत जगह अकेले बर्फवारी का एहसास करना चाहते हैं तो आपको कोठी गांव जाना चाहिए। कोठी गांव बहुत ही शांत और बर्फवारी का आनंद लेने के लिए एक परफेक्ट स्थान है। ज्यादातर पर्यटकों मनाली में सोलंग वैली में घूमते हैं, जिससे कोठी गांव तक इतने लोग नहीं पहुँचते हैं इसलिए आपको यहाँ आना चाहिए।

कोठी गांव में अधिक बर्फवारी होने की वजह से यहाँ आने वाले रास्ते को बंद कर दिया जाता है इसलिए आप यहाँ तक पैदल ट्रेक करके भी पहुंच सकते हैं।

How to Reach? (कैसे पहुंचे?)

यहाँ पहुंचने के लिए सबसे पहले आपको मनाली पहुंचना होगा। मनाली से कोठी गांव 14 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। इस दूरी को बर्फवारी के दौरान आप प्राइवेट गाड़ी द्वारा पूरा कर सकते हैं। आप मनाली बस, ट्रेन और हवाई जहाज द्वारा पहुंच सकते हैं। मनाली के सबसे निकट एयरपोर्ट भुंतर एयरपोर्ट है और सबसे निकट रेलवे स्टेशन जोगिन्दर नगर रेलवे स्टेशन है। मनाली से बर्फवारी के दौरान आप प्राइवेट गाड़ी द्वारा पहुंच सकते हैं लेकिन यह काफी एक्सपेंसिव हो सकता है। आप इस दूरी को पैदल भी पूरा कर सकते हैं।

Kedarkantha (केदारकांठा)

बर्फवारी का आनंद उठाने और सुन्दर सफ़ेद बर्फ से ढके पहाड़ो को देखने के लिए आपको केदारकांठा आना चाहिए। केदारकांठा तक आपको ट्रेक करके पहुंचना होता है। इस ट्रेक की लम्बाई 20 किलोमीटर है। यदि आप इसको अकेले ही पूरा करोगे तो आपको 2 दिन लगेंगे और यदि आप इसे किसी ट्रेकिंग कंपनी द्वारा करोगे तो यह ट्रेक 4 से 5 दिन का होगा।

ठंडो में इस जगह आने का मतलब एक अलग दुनिया में आने जैसा है। यहाँ आप सुन्दर पहाड़ और शांत वातावरण के बीच में बर्फवारी का आनंद उठा सकते हैं। तो केदारकांठा भी एक बर्फवारी का सुन्दर पर्यटक स्थान (Best snowfall tourist places in india) में से एक है।

How to Reach? (कैसे पहुंचे?)

यदि आप केदारकांठ ट्रेक को करना चाहते हैं तो आपको इसके बेस कैंप संकारी तक पहुंचना होगा। संकारी के सबसे निकट एयरपोर्ट जॉली ग्रांट एयरपोर्ट है। यहाँ से आपको प्राइवेट गाड़ी द्वारा संकारी तक पहुंचना होगा। यदि आप ट्रेन द्वारा आना चाहते हैं तो संकारी के सबसे निकट रेलवे स्टेशन देहरादून और ऋषिकेश रेलवे स्टेशन हैं। इन दोनों जगहों से आप सड़कमार्ग द्वारा आसानी से पहाड़ो की वादियों में घूमते हुए संकारी तक पहुंच सकते हैं।


SOCIAL SHARE

Leave a comment