https://aboutinhindi.com

लक्ष्यद्वीप भारत के सबसे सुंदर समुद्री पर्यटक स्थल की घूमने से संबंधित जानकारी (Information Related to Visiting Lakshadweep, India’s Most beautiful Marine Tourist Destination)

SOCIAL SHARE

इस ब्लॉग के माध्यम से आप आज भारत के एक ऐसी जगह के बारे में जानेंगे जो कि बहुत ही खूबसूरत Beach और वहां की जाने वाली वाटर एक्टिविटीज के लिए बहुत ज्यादा ही प्रसिद्ध है। हम बात कर रहे हैं भारत के केंद्र शासित प्रदेश “लक्ष्यद्वीप” की। लक्ष्यद्वीप अभी टूरिज्म के हिसाब से इतना प्रसिद्ध नही है और यहां के सभी द्वीपों पर घूमना थोड़ा महंगा भी पड़ता है। आप लक्ष्यद्वीप की यात्रा किस प्रकार कर सकते हैं इन्हीं बातों को हम इस ब्लॉग के माध्यम से जानेंगे।

आप लक्ष्यद्वीप किस प्रकार पहुंच सकते हैं? आप लक्षद्वीप के लिए पैकेज किस प्रकार ले सकते हैं? लक्ष्यद्वीप की भाषा क्या है? लक्ष्यद्वीप कितने द्वीपों से मिलकर बना है? और भी बहुत सी जानकारी जिसे हम इस ब्लॉग के माध्यम से जानेंगे। तो आइए जानते हैं लक्ष्यद्वीप से संबंधित सभी जानकारी को।

लक्ष्यद्वीप कहां है?

लक्ष्यद्वीप

लक्ष्यद्वीप भारत के केरल के कोच्चि शहर से 420 किलोमीटर दूर है। भौगोलिक दृष्टि से लक्ष्यद्वीप भारत के दक्षिण-पश्चिमी तट से 270 मील दूर अरब सागर में स्थित एक द्वीपों का समूह है। लक्ष्यद्वीप 36 द्वीपों का समूह है, जिसमे से 11 द्वीपों पर आबादी वसी हुई है। लक्ष्यद्वीप भारत का एक केंद्र शासित प्रदेश है।

लक्ष्यद्वीप का अर्थ और इसका पुराना नाम क्या है?

लक्ष्यद्वीप का अर्थ, “एक लाख द्वीप” है। एक लाख द्वीप अर्थ मलयालम और संस्कृत में कहा जाता है। लक्ष्यद्वीप का पुराना नाम लक्कादीव-मिनिकॉय-अमिनीदिवि द्वीप था। जिसे आज सभी 36 द्वीपों को मिलाकर लक्ष्यद्वीप के नाम से जाना जाता है।

लक्ष्यद्वीप में कितने द्वीप हैं और यहां की भाषा

लक्ष्यद्वीप कुल 36 द्वीपों से मिलकर बना है, जिसमे से 11 द्वीप ऐसे हैं जहां लोग रहते हैं। यहां रहने वाली अधिकांश आबादी मलयालम भाषा का प्रयोग करती है। बाकि यहां के लोग हिंदी, तमिल, उड़िया, उर्दू भाषा को भी जानते हैं और बोलते हैं।

लक्ष्यद्वीप में घूमने के लिए पैकेज

यदि आप लक्ष्यद्वीप में घूमने के लिए आ रहें हैं तो यह एक ऐसी जगह है जहां आपको पैकेज लेना जरूरी होगा क्योंकि इन सभी जगहों पर रुकने के लिए गेस्ट हाउस नियमित ही हैं तो इसलिए यहां पहले से बुकिंग करनी होती है। लक्ष्यद्वीप के सभी समुन्द्र तटो पर घूमना बहुत ज्यादा खर्चीला हो सकता है। आप जिन जगहों पर घूमना और प्राइवेट टाइम बिताना चाहते हैं उस हिसाब से अपने पैकेज को बुक कर ले। बाकि और पैकेज से रिलेटेड जानकारी आपको लक्षद्वीप के ऑफिशियल वेबसाइट पर मिल जायेगी।

लक्ष्यद्वीप

लक्षद्वीप का टूर थोड़ा महंगा होता है, जिसमें पैकेज की शुरुआत 20k से शुरू होकर लगभग 100k तक हो सकती है। आप इन पैकेज को EMI की कंडीशन द्वारा भी बुक कर सकते हैं, जो एक अच्छा तरीका है पैकेज बुक करने का।

पैकेज में क्या-क्या शामिल होता है

आप जब पैकेज की बुकिंग करेंगे तो उनकी वेबसाइट पर पैकेज से संबंधित सभी बाते लिखी होंगी। वैसे इन पैकेज में आपको कोच्चि से जिस भी आइलैंड के लिए अपने बुक किया है वहां तक का आना जाना, होटल्स, खाना, और बहुत सी वाटर एक्टिविटीज शामिल होती हैं। यहां पैकेज की बुकिंग आइलैंड और यहां होने वाली एक्टिविटीज के हिसाब से भी होती है। तो आपको जिस-जिस आइलैंड में घूमना है और जो वाटर एक्टिविटीज करनी हैं आप उसी हिसाब से अपना पैकेज बुक करे।

लक्षद्वीप में की जाने वाली Water Activities

अधिकतर टूरिस्ट यहां पर अपना हनीमून या सिर्फ घूमने के पर्पज से आते हैं। जिन लोगो को स्विमिंग करना या वाटर राइड्स करना बहुत पसंद है वो भी अधिकतर लक्षद्वीप को अपना डेस्टिनेशन मानते हैं। यहां पर बहुत सी वाटर एक्टिविटीज की जाती हैं जैसे- स्विमिंग, स्क्यूब डाइविंग, कयाकिंग, स्नॉर्कलिंग, कैनोइंग, बोटिंग, लैगून, एयर सर्फिंग आदि।

लक्षद्वीप के द्वीपों का विवरण

लक्षद्वीप कुल 36 द्वीपों से मिलकर बना है। जिसमे से 10 द्वीपों पर ही लोग निवास करते हैं, और इन्ही द्वीपों पर लोग घूमने और वाटर एक्टिविटीज करने आते हैं। तो आइए अब हम जानते हैं इन्हीं कुछ द्वीपों के बारे में..

कावरत्ती द्वीप

कावरत्ती द्वीप लक्ष्यद्वीप की राजधानी है जो 3.93 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैला हुआ एक बहुत ही सुंदर समुद्र तट है। यह द्वीप पानी के खेलो और सुंदर गर्म शांत रेतेली समुद्र तट पर समय व्यतीत करने के लिए एक आदर्श स्थान है। यहां स्थित डॉल्फिन डाइव सेंटर यहां आने वाले टूरिस्टो के लिए और पानी से संबंधित खेलो में रुचि रखने वाले लोगो के लिए एक आकर्षण का केंद्र है। इस द्वीप पर आपको मसाले दार शाकाहारी भोजन और सबसे ज्यादा मांसाहारी भोजन खाने के लिए मिल जायेगा।

कावरत्ती द्वीप के तट चारो ओर नारियल के पेड़ो से घिरे हुए हैं जो इस द्वीप की सुंदरता को और भी अधिक बढ़ा देते हैं। यह द्वीप कोच्चि से 403 किलोमीटर की दूरी पर है। इस द्वीप तक पहुंचने का एक मात्र साधन बोट या जहाज द्वारा है। इस द्वीप पर एयरपोर्ट नहीं है। इस द्वीप के निकटतम एयरपोर्ट आगत्ती एयरपोर्ट है और वहां से इस द्वीप तक आप बोट द्वारा पहुंच सकते हैं। यह द्वीप पानी से संबंधित खेल, सुंदर प्राकृतिक दृश्य और सफेद चमकीली रेत के समुद्र तट और इन सभी चीजों के बीच शांति प्रदान करने का एक बहुत ही सुंदर स्थान है।

आगत्ती द्वीप

आगत्ती द्वीप पर्यटन के लिए सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण द्वीप है क्योंकि इस द्वीप पर बना एयरपोर्ट यहां के पर्यटन के लिए एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। यह द्वीप 5.6 किलोमीटर लम्बा है जो कोच्चि से 457 किलोमीटर की दूरी पर है। यहां आपको खाने में मांसाहारी भोजन और कुछ हरी सब्जियां से बना हुआ शाकाहारी भोजन खाने में मिल जायेंगे। इस द्वीप के समुद्र तट पर आप वाटर एक्टिविटीज कर सकते हैं जिसमे कयाकिंग, स्नोर्कलिंग, स्नो डाइविंग, साइलिंग, स्कूबा डाइव, और फिशिंग आदि जैसी वाटर एक्टिविटीज शामिल हैं।

बंगाराम द्वीप

यह द्वीप 1.23 वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ और प्राकृतिक सौन्दर्य से भरा हुआ द्वीप है। यह लक्ष्यद्वीप में खोजा गया एक ऐसा द्वीप है जो शोर भरी दुनिया से एक अलग शांति का अनुभव कराता है। यह द्वीप साहसिक जल खेल, जीवन्त मूंगा चट्टाने और सुंदर समुद्री तटों के लिए जाना जाता है। यह आगत्ती द्वीप से 12 किलोमीटर की दूरी पर है। आप आगत्ती से नावें और फेरी द्वारा बंगाराम द्वीप पर पहुंच सकते हैं। इस द्वीप पर एक सुंदर समुद्री रिजॉर्ट भी है । अगर आप रात में यहां रुकना चाहते हैं तो आपको विशेष परमिट की आवश्यकता होती है।

यहां भी आप स्कूबा डाइव, स्नोर्कलिंग, स्नो डाइविंग, कयाकिंग और फिशिंग आदि जैसी वाटर एक्टिविटीज कर सकते हैं। यदि आपके पैकेज में कोई ऐसी वाटर एक्टिविटीज शामिल न हो मगर आप वो करना चाहते है तो यहां आप उसका शुल्क देकर वो एक्टिविटी कर सकते हैं।

कदमत द्वीप

यह द्वीप लक्षद्वीप का सबसे खूबसूरत द्वीप में से एक है। जो 7 किलोमीटर लम्बा और प्राकृतिक सौंदर्य से भरपूर रिफ लैगून से घिरा हुआ एकांत में समय व्यतीत करने का एक आदर्श स्थान है। यहां आने वाले पर्यटक पानी में होने वाले खेलो में भाग ले सकते हैं और लुफ्त उठा सकते हैं। इस द्वीप पर आपको कयाकिंग, नौकायान, और स्कीइंग जैसे खेल देखने को मिल जायेंगे। इस द्वीप पर स्कूबा डाइविंग सेंटर भी है, जो यहां आने वाले पर्यटकों के लिए खेल से संबंधित सभी व्यवस्था करता है।

कदमत द्वीप पर एक रिसॉर्ट भी स्थित है जो नारियल के सुन्दर पेड़ो से घिरा हुआ है। यहां रुकने के लिए आपको पहले से ही बुकिंग करनी होती है।

कल्पेनी द्वीप

कल्पेनी द्वीप लक्षद्वीप के सभी द्वीपों में सबसे सुंदर लैगून में से है। इसे नीला लैगून भी कहे सकते हैं। यह द्वीप काफी छोटा द्वीप है जिसे आप पैदल ही पूरा कर सकते हैं। यह द्वीप सभी वाटर एक्टिविटीज के साथ उपयुक्त है। इस द्वीप के तटों पर पानी इतना पारदर्शी है जिसमे आप नीचे तल की सभी चीजों को देख सकते हैं। यह द्वीप मनोरम दृश्य और पिट्ट, तिलकम और चेरियम जैसे द्वीप के लिए प्रसिद्ध है। लक्ष्यद्वीप में अपना प्राइवेट समय और शांति का अनुभव करने के लिए यह द्वीप एक अच्छा स्थान है।

मिनिकॉय द्वीप

मिनिकॉय द्वीप भी एक बहुत सुंदर द्वीप में से एक है, जो सफेद चमकीली रेत और मूंगा चट्टानों के लिए जाना जाता है। यह द्वीप कोच्चि से 400 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यह स्कूबा डाइविंग, स्नोर्कलिंग के लिए भी जाना जाता है। यह द्वीप ताड़ और नारियल के पेड़ो से घिरा हुआ एक बहुत ही सुंदर परिदृश्य वाला द्वीप है। जहां आप कुछ समय अकेले बैठ कर शांति का अनुभव कर सकते हैं। इस द्वीप पर भी आप वाटर एक्टिविटीज कर सकते हैं।

लक्षद्वीप आने का सबसे अच्छा समय

लक्षद्वीप में आने का सबसे अच्छा समय अक्टूबर से मार्च तक है। इसी समय में अधिकतर पर्यटक लक्षद्वीप में विजिट करते हैं। मार्च में तापमान सामान्य से थोड़ा अधिक होने पर यहां पर वाटर एक्टिविटीज करने के लिए यह एक बहुत ही अच्छा समय होता है। यह समय हनीमून मनाने के लिए बहुत ही अच्छा होता है, तो आप जब भी यहां आने का प्लान करे तो इसी समय में करे।

औप पढ़ें- कुल्लू मनाली गर्मियों में घूमने के लिए सबसे अच्छा पर्यटक स्थल

लक्षद्वीप कैसे पहुंचे?

लक्ष्यद्वीप भारत का एक केंद्र शासित प्रदेश है। यहां तक पहुंचने के लिए आपको सबसे पहले केरल के कोच्चि शहर आना होगा। लक्षद्वीप पहुंचने के दो साधन हैं जिनके द्वारा आप यहां तक पहुंच सकते हैं। एक तो फ्लाइट द्वारा और दूसरा जहाज द्वारा। तो आइए जानते हैं किसी प्रकार से आप यहां तक पहुंच सकते हैं…

फ्लाइट द्वारा कैसे पहुंचे?

यदि आप यहां फ्लाइट द्वारा आना चाहते हैं तो आपको सबसे पहले केरल के कोच्चि शहर आना होगा। कोच्चि तक आप फ्लाइट, बस और ट्रेन द्वारा पहुंच सकते हैं। दिल्ली से कोच्चि की दूरी फ्लाइट द्वारा 2057 किलोमीटर है और सड़क मार्ग द्वारा यह दूरी 2678 किलोमीटर की है। कोच्चि तक आप जिस भी तरह से आना चाहते हैं आप उस तरह से आ सकते हैं। लक्षद्वीप में केवल आगत्ती द्वीप पर ही एयरपोर्ट है, जहां पर कोच्चि से उड़ने वाली फ्लाइट लैंड करती हैं।

यदि आपने आगत्ती के अलावा किसी और द्वीप के लिए बुकिंग की है तो आपको पहले आगत्ती ही आना होगा फिर वहां से आपको आपकी डेस्टिनेशन तक नाव द्वारा पहुंचा दिया जाता है। ज्यादातर पैकेज में फ्लाइट बुकिंग शामिल नहीं होती है इसका आपको अलग से खर्चा करना होता है।

जहाज द्वारा कैसे पहुंचे?

लक्षद्वीप में पहुंचने का जो दूसरा तरीक है वो है जहाज द्वारा। पर्यटक सबसे ज्यादा जहाज द्वारा ही इन्ही द्वीपों पर आते हैं। यह एक सस्ता और एक अच्छा साधन है यहां द्वीपों पर पहुंचने का। कोच्चि से कई जहाज लक्षद्वीप के द्वीपों तक जाते हैं जिनके रूम का किराया 500 से 4000 रुपए तक हो सकता है। कई क्रूज भी यहां द्वीपों तक आते हैं जो गोवा मुंबई से चलते हैं। ये जहाज कोच्चि तट से चलकर कावरत्ती और आगत्ती द्वीप तथा और भी बहुत से द्वीपों तक जाता है।

फ्लाइट और जहाज द्वारा ही आप यहां तक पहुंच सकते हैं इसके अलावा दूसरा कोई और साधन नही है यहां तक पहुंचने का। आप वैसे जिस भी तरह से यहां आना चाहते हैं आ सकते हैं लेकिन जहाज द्वारा यहां तक पहुंचना सबसे अच्छा तरीका है। जहाज से आगत्ती द्वीप तक पहुंचने में आपको लगभग 14 से 15 घंटे लगते हैं। जहाज पर आप बहुत सी वाटर एक्टिविटीज कर सकते हैं।

लक्ष्यद्वीप में ध्यान रखने योग्य बातें

  • आप यहां के किसी भी द्वीप पर शराब या किसी भी तरह के नशीले पदार्थो का सेवन न करे।
  • यहां के समुद्रों तटो से लैगून न उठाए। लैगून उठना दंडनीय अपराध है।
  • यहां आप किसी भी पैकेज को लेकर ही घूमने आए।
  • यहां भोजन में ज्यादातर मांसाहारी ही भोजन मिलता है, लेकिन कुछ आपको शाकाहारी भोजन के विकल्प भी मिल जायेगा।
  • आप ऐसे किसी भी द्वीप पर न जाए जिसका आपके पास परमिट न हो।

SOCIAL SHARE

Leave a comment